बड़ी खबर: काबुल में गुरूद्वारे के भीतर 150 श्रद्धालुओं पर अंधाधुंध फायरिंग, 4 लोगों की मौत

KABUL Attack

नई दिल्ली। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में बुधवार को गुरुद्वारे के अंदर घुसकर हमलावर ने अंधाधुंध फायरिंग की है। इस हमले में अब तक 4 लोगों की मौत हो चुकी है।

बताया जा रहा है कि जिस इलाके में यह हमला किया गया है वो सिख अल्पसंख्यक इलाका है।

सांसद ने भाग कर बचाई जान

अफगानिस्तान के आंतरिक मामलों के मंत्री ने जानकारी दी है कि सिखों के पूजा स्थल के पास पुलिस मौजूद थी, लेकिन वहां फायरिंग हुई है। स्थानीय सांसद नरेंन्द्र सिंह खालसा ने कहा कि जब यह फायरिंग हुई उस वक्त वह गुरूद्वारे में मौजूद थे। सांसद ने बताया कि उन्होंने किसी तरह वहां से भाग कर अपनी जान बचाई है।

खालसा के अनुसार, इस हमले में कम से कम 4 लोगों की मौत हो चुकी है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा जा रहा है कि अभी भी गुरुद्वारे के भीतर 150 से ज्यादा लोग फंसे हुए हैं। हालांकि, अभी तक इस हमले की जिम्मेदारी किसी भी शख्स या संगठन ने नहीं ली है।

150 लोगों के फंसे होने की आशंका

अफगानिस्तान के संसद में एक अन्य सिख सांसद अनारकली कौल होनारयार ने कहा है कि ‘उस वक्त गुरुद्वारे में करीब 150 लोग मौजूद थे। कई परिवार गुरुद्वारे में रहते हैं और हमले से पहले सभी प्रार्थना के लिए जमा हुए थे। उन्होंने कहा कि ‘मुझे शक है कि गुरुद्वारे के अंदर कुछ लोग छिपे हुए हैं और उनके फोन बंद हैं।’

अभी तक इस हमले की जिम्मेदारी किसी ने नहीं ली है। हालांकि इस महीने की शुरुआत में इस्लामिक स्टेट से संबद्ध एक संगठन ने काबुल में अल्पसंख्यक शिया मुस्लिमों के एक धार्मिक समागम पर हमला किया था जिसमें 32 लोगों की मौत हो गई थी। इस रुढ़िवादी मुस्लिम बहुल देश में सिखों को बड़े पैमाने पर भेदभाव का सामना करना पड़ता है। ऐसे में आतंकी संगठन IS पर शक की सुई घूम रही है।