हाईटेक सुविधाओं से लैस पीएक्सआईएल ने नया ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म ‘प्रत्यय’ लॉन्च

power exchange india
New Delhi: संस्थागत रूप से प्रवर्तित भारत के पहले पावर एक्सचेंज- ‘पावर एक्सचेंज इंडिया लिमिटेड (पीएक्सआईएल)’ ने नई तकनीक आधारित अपने ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म ‘प्रत्यय’ लांच कर दिया है। जो आज से लाइव हो गया है।

लोगों की सहभागिता को आसान बनाना और ग्राहकों को एक्सचेंज पर ट्रेडिंग करने की संतुष्टि और सुख प्रदान करना इस तकनीक-सक्षम प्लेटफॉर्म का मूल उद्देश्य है। यह नई सेवा सभी सेगमेंट के लिए सिंगल प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराती है और कई दूसरे लाभों के साथ स्थूल ग्राहक-आधारित समाधान से संपूर्ण वेब-आधारित समाधान में परेशानी मुक्त माइग्रेशन की पेशकश करती है।

उपयोगकर्ता-सहयोगी दृष्टिकोण से सुसज्जित ‘प्रत्यय’ में यूजर एंड पर ऑटो अपडेट, वेब ब्राउजर ऑपरेशन, रिपोर्ट की इक्सपोर्ट करने में आसानी और प्रिंटिंग तथा स्मार्ट यूआई जैसी सुविधाएं शामिल हैं। तकनीकी रूप से उन्नत यह प्लेटफॉर्म प्रतिभागियों के पीसी पर उनके द्वारा संचालित हुई अपडेट को हटाने में मदद करता है, ताकि क्लाइंट के एंड पर कोई एक्शन लेने की जरूरत न पड़े। जैसे ही कोई अपग्रेड उपलब्ध होता है तो क्लाइंट को संशोधित सुविधाओं और कार्यक्षमताओं का पता लगना प्रारंभ हो जाता है।

प्रत्यय में क्लियरिंग और सेटलमेंट के साथ-साथ रिस्क मैनेजमेंट के मॉड्यूल्स भी मौजूद हैं। ये जोखिम प्रबंधन और मार्जिनिंग को चरणों के आधार पर सक्षम करते हैं, जिससे भुगतान सुरक्षा और ट्रेड मार्जिन ऑर्डर, लेनदेन, निकासी और सेटलमेंट की स्थिति के आधार पर लागू होते हैं। यह प्रतिभागियों को अपने ट्रेड के लिए ज्यादा दक्षतापूर्ण तरीके से पूंजी लगाने की क्षमता प्रदान करता है और उनकी कार्यशील पूंजी की लागत घटाता है, साथ ही साथ पावर एक्सचेंज के माध्यम से लेनदेन करते समय फाइनेंशियल सेटलमेंट की अंतर्निहित सुरक्षा बरकरार रखता है।

बाजार के विकास की आवश्यकतानुसार इस प्लेटफॉर्म के कॉन्ट्रैक्ट निर्माण मॉड्यूल, मिलान एल्गोरिदम और मजबूत किंतु लचीली डेटाबेस संरचना किसी भी नए अनुबंध या कार्यात्मकता को लागू होने का समय घटाने में मदद करती है।

वर्ष 2008 में प्रारंभ हुए पीएक्सआईएल ने टर्म अहेड मार्केट 2009 में और आरईसी सेगमेंट 2011 में लॉन्च किया था तथा इन सेगमेंट में संतोषजनक मार्केट शेयर हासिल किया। एक्सचेंज में सूचीबद्ध कांट्रैक्ट्स को मोटे तौर पर दो श्रेणियों- ‘फिजिकल’ और ‘सर्टीफिकेट’ में बांटा गया है। इसके आगे ‘फिजिकल’ श्रेणी को ‘कलेक्टिव’ और ‘बाइलेटरल’ में वर्गीकृत किया गया है, जहां ‘कलेक्टिव’ सेगमेंट में ‘डे अहेड स्पॉट’, जिसे अब फिर से लॉन्च किया गया है और ‘रियल टाइम मार्केट’ शामिल हैं, जिसके आगामी महीनों में शुरू होने की संभावना है। ‘बाइलेटरल’ सेगमेंट के अंतर्गत ‘डे अहेड कंटिन्जेंसी’, ‘इंट्राडे (24×7)’, ‘वीकली’ और ‘एनीडे’ उत्पाद आते हैं। ‘सर्टीफिकेट’ वाली शेष श्रेणी में ‘रिन्यूएबल एनर्जी सर्टिफिकेट्स (आरईसीज) और ‘एनर्जी सेविंग सर्टिफिकेट्स (ईएससर्ट्स) शामिल हैं।

पावर एक्सचेंज इंडिया लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री प्रभाजीत कुमार सरकार ने ‘प्रत्यय’ के शुभारंभ पर बात करते हुए कहा, “प्रत्यय इस सेक्टर के सभी हितधारकों के साथ मिल कर चलाई गई गहन परामर्श प्रक्रिया का मूर्त रूप है जिसके परिणामस्वरूप यह प्लेटफॉर्म बना है, जो पावर मार्केट में लेनदेन के सभी स्वरूपों में व्याप्त है।

हमारे देश के पावर मार्केट अब तेजी से विकसित हो रहे हैं, जहां लेनदेन की अवधि कुछ मिनटों से लेकर चंद महीनों और वर्षों तक फैले होने की अपेक्षा की जाती है। पीएक्सआईएल पावर मार्केट में सभी प्रतिभागियों का सहयोग करने और उनके साथ काम करने के लिए तत्पर है ताकि उनकी बिजली से संबंधित आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद कर सके।”

वर्तमान में पीएक्सआईएल ने खुद को एक लाभदायक उद्यम और कर्जरहित कंपनी के रूप में तब्दील कर लिया है। यह कायापलट उस अवस्था से हुआ है, जब इसे अत्यंत घट चुके नेटवर्थ वाली व्यर्थ की कंपनी करार दे दिया गया था। महीनों के प्रयासों और उत्पाद नवाचारों के दम पर इस एक्सचेंज ने अपने संचालन को पुनर्जीवित किया, अपने सदस्य आधार को कायम रखते हुए उसे और बढ़ाया तथा अपने कारोबार की लाभप्रदता सुनिश्चित की।

पीएक्सआईएल को एनएसई (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड) एवं एनसीडीईएक्स (नेशनल कमोडिटी एंड डेरिवेटिव्स एक्सचेंज) द्वारा प्रवर्तित किया गया है। पीएक्सआईएल के अन्य शेयरधारकों में पॉवर फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (भारत सरकार का उपक्रम)शामिल है। सरकारी क्षेत्र के गुजरात यूवीएनएल, मध्य प्रदेश पीएमसीएल एवं पश्चिम बंगाल एसईडीसीएल, तथा निजी क्षेत्र के टीपीटीसीएल, जीएमआरईटीएल और जेएसडब्ल्यूपीटीसी शामिल हैं।