किसी भी राज्य में राशन लेना हुआ आसान, सरकार ने लांच किया 'My Ration' एप

पिछले दिनों केंद्र सरकार ने ऐलान किया था कि राशन कार्ड धारक पूरे देश में कहीं भी राशन ले सकेंगे। इसकी शुरुआत सरकार की तरफ से कर दी गई है। केंद्र सरकार ने 'माई राशन' (My Ration) नाम से मोबाइल एप लांच किया है।
 
किसी भी राज्य में राशन लेना हुआ आसान, सरकार ने लांच किया 'My Ration' एप

नई दिल्ली। सरकारी राशन की दुकानों पर आपने भी लंबी-चौड़ी कतारें देखी होंगी। पिछले दिनों केंद्र सरकार ने ऐलान किया था कि राशन कार्ड धारक पूरे देश में कहीं भी राशन ले सकेंगे। इसकी शुरुआत सरकार की तरफ से कर दी गई है। केंद्र सरकार ने 'माई राशन' (My Ration) नाम से मोबाइल एप लांच किया है।

शुक्रवार को लांच की गई 'माई राशन' (My Ration) ऐप राशन कार्ड धारकों, विशेष रूप से दूसरे राज्य के राशन कार्डधारकों के लिए बेहद काम का है। इस ऐप के जरिए वे अपने आस पास के सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान की पहचान कर सकेंगे। साथ ही उन्हें इससे अपने कोटे के ब्यौरे की जांच करने और हाल के लेनदेन की जानकारी मिलेगी।

राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (NIC) द्वारा विकसित किया किया गया यह एप (My Ration) अभी एंड्रायड यूजर्स के लिए है और यह हिंदी और अंग्रेजी में उपलब्ध है। धीरे-धीरे, इसे 14 अन्य भाषाओं में उपलब्ध कराया जाएगा।

पीडीएस स्कीम के तहत करोड़ों लोगों को मिल रहा राशन

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के तहत, सरकार सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) के माध्यम से 81 करोड़ से अधिक लोगों को 1-3 रुपये प्रति किलोग्राम पर सस्ते अनाज मुहैया करवाती है। सरकार 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी सेवा ‘वन नेशन वन राशन कार्ड (ONORC) की भी पेशकश कर रही है।

14 भाषाओं में उपलब्ध होगा मेरा राशन ऐप

'माई राशन' (My Ration) ऐप के लॉन्च के बाद, फूड सेक्रेटरी सुधांशु पांडे ने कहा कि नए मोबाइल ऐप का उद्देश्य एनएफएसए के लाभार्थियों, विशेष रूप से प्रवासी लाभार्थियों, उचित मूल्य की दुकान (एफपीएस) या राशन दुकान के डीलरों और अन्य अंशधारकों के बीच ओएनओआरसी से संबंधित सेवाओं को सुविधाजनक बनाना है। 

माइग्रेशन डिटेल्स को सबमिट कर ले सकते हैं लाभ

सचिव ने कहा कि प्रमुख विशेषताओं के तहत, प्रवासी लाभार्थी (My Ration) मोबाइल ऐप के माध्यम से अपने माइग्रेशन डिटेल्स को दर्ज कर सकते हैं। प्रवासी लाभार्थी अपनी यात्रा शुरू करने से पहले खुद को पंजीकृत कर सकते हैं और सिस्टम स्वचालित रूप से खाद्यान्न के कोटे का आवंटन करेगा। इसके अलावा, एनएफएसए लाभार्थी निकटतम उचित मूल्य दुकान की पहचान कर सकते हैं, वे आसानी से अपने खाद्यान्न का विवरण जान सकते हैं, पिछले छह महीने के लेनदेन और आधार सीडिंग की स्थिति का विवरण देख सकते हैं।

मेरा राशन ऐप पर ऐसे कर सकते हैं रजिस्टर

पांडे ने कहा कि एक लाभार्थी को वास्तव में पता होगा कि उसे क्या मिलना है। उसे उचित मूल्य दुकान के डीलर से यह पूछने की जरूरत नहीं है कि उसे कितना मिलेगा।’ लाभार्थी आधार या राशन कार्ड नंबर देकर लॉगिन कर सकते हैं। सरकार 5.4 लाख राशन (My Ration) दुकानों के माध्यम से प्रत्येक व्यक्ति को प्रति माह 5 किलोग्राम सब्सिडी वाले खाद्यान्न की आपूर्ति करती है।

FROM AROUND THE WEB