250 रुपए देकर अपनी बेटी के नाम पर खुलवाएं सुकन्या खाता, सरकार की मदद से संवारे भविष्य

केंद्र सरकार ने भी पिता के इसी गौरव को बढ़ाने के लिए देशभर में सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Yojna) शुरू की है। अपनी लांचिंग से लेकर अब तक यह योजना काफी लोकप्रिय रही है। 
 
250 रुपए देकर अपनी बेटी के नाम पर खुलवाएं सुकन्या खाता, सरकार की मदद से संवारे भविष्य

नई दिल्ली। एक बेटी का पिता होने का गौरव हर किसी के लिए सौभाग्य माना जाता है। केंद्र सरकार ने भी पिता के इसी गौरव को बढ़ाने के लिए देशभर में सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Yojna) शुरू की है। अपनी लांचिंग से लेकर अब तक यह योजना काफी लोकप्रिय रही है। 

इस योजना की खासबात यह है कि कोई भी व्यक्ति जिसकी 10 साल से छोटी अधिकतम 2 बेटियां हैं, वह मात्र 250 रुपये के निवेश से बेटी का भविष्य उज्ज्वल बना सकता है। यानि दूसरे शब्दों में कहा जाए तो यहां सिर्फ प्रति दिन 10 रुपये के निवेश से मोटा निवेश कमा सकते हैं।

यहां खुलवा सकते हैं खाता

सुकन्या योजना (Sukanya Yojna) के तहत आप किसी भी सरकारी बैंक या डाकघर में जाकर बेटी का जन्म प्रमाण पत्र देकर खाता खुलवा सकते हैं। इसके साथ ही अभिभावक को अपना फोटो, पता एवं पहचान का प्रमाण पत्र और 250 रुपए जमा कराना होगा। सरकार की इस स्‍कीम में निवेश करने पर आपको बेहतर रिटर्न के साथ ही टैक्‍स सेविंग का फायदा भी मिलता है।

एक बार दस्तावेज प्रमाणित होने के बाद बैंक या पोस्ट ऑफिस आपका खाता सफलतापूर्वक खोला देंगे। बैंकों में बच्ची के अभिभावक को अपना स्पेशल खाता खोल सकते हैं। मिसाल के तौर पर एसबीआई बैंक ने इसे एसएसवाई खाता नाम दिया है, जो सुकन्या योजना (Sukanya Yojna) के तहत बच्ची के कानूनी अभिभावक का खोला जाता है। 

ऑनलाइन मिलेगी जानकारी

सुकन्या (Sukanya Yojna) खाते में आपने अब तक कितना पैसा जमा किया है और आपको अब तक कितना फायदा हुआ है। इसकी जानकारी आप ऑनलाइन पता कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने बैंक या पोस्ट ऑफिस से ऑनलाइन बैंकिंग का पासवर्ड लेना होगा। यदि आप पहले से ही इस सुविधा का लाभ उठा रहे हैं तो आप आसानी से अपनी बचत की स्थिति देख सकते हैं।

आप देश भर में मौजूद किसी भी पोस्‍ट ऑफिस एवं बैंक के माध्‍यम से सुकन्या खाता (Sukanya Yojna) खुलवा सकते हैं। खास बात यह है कि इसमें आप कम से कम 250 रुपये की राशि से खाता खुलवा सकते हैं। बैंक या डाकघर में जाकर उसका जन्म प्रमाण पत्र देना होगा। इसके साथ ही अभिभावक को अपना फोटो, पता एवं पहचान का प्रमाण पत्र जमा कराना होगा। आप चाहें तो अधिक पैसा भी जमा कर सकते हैं। इस योजना के तहत अधिकतम निवेश सीमा 1।5 लाख रुपये है। यहां आपको 21 साल तक निवेश करना होगा।

ये है कुछ लिमिट्स

एक बच्ची के नाम पर सिर्फ एक खाता खोला जा सकता है। एक अभिभावक अधिक से अधिक 2 बेटियों के नाम से अकाउंट खुलवा सकता है। अगर जुड़वां या तीन बच्चियां एक साथ होती हैं, तो फिर तीसरी बच्ची को भी इसका फायदा मिलेगा।

बच्ची के 10 साल के होने से पहले तक सुकन्या खाता (Sukanya Yojna) खोला जा सकता है। शुरुआती 14 साल के लिए खाते में रकम जमा करनी होती है। ये योजना 21 साल के बाद मैच्योर होती है। यानि आप 21 साल के बाद ही पैसा निकाल सकते हैं। हालांकि, 18 साल की उम्र के बाद अगर बेटी की शादी होती है तो पैसा निकाल सकते हैं। इसके अलावा 18 वर्ष की उम्र के बाद बेटी की पढ़ाई के लिए 50 फीसदी तक पैसा निकाल सकते हैं।

टैक्स में भी मिलेगी छूट

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Yojna) में निवेश करने पर आयकर अधिनियम की धारा 80C के तहत टैक्स छूट का लाभ लिया जा सकता है। मैच्योरिटी पर जो रकम मिलती है, उस पर टैक्स नहीं लगता। बाकी सभी योजनाओं की तुलना में इसमें ब्याज ज्‍यादा मिलता है। बच्ची की उच्च शिक्षा और शादी-ब्याह के लिए बचत कर सकते हैं।

FROM AROUND THE WEB